Ghode ki naal ki anguthi ke fayde :एक सस्ता मगर बहुत लाभकारी

Ghode ki naal ki anguthi ke fayde : क्या आपको भी पता हे घोड़े की नाल की अंगूठी के फायदे |

घोड़े की नाल का अर्थ क्या होता है?:घोड़े की नाल क्या हे –

Ghode ki naal ki anguthi ke fayde बहुत ही फायदेमंद होती हे | मगर आपके मन मे एक सवाल होता हे की घोड़े की नाल का अर्थ क्या होता हे | घोड़े की नाल का मतलब होता हे की जो लोग घोड़ों का पालन करते हे | वो लोग घोड़े के उपयोग करते हे | जेसे घुरसवारी के तोर पे या घोड़े से तांगे के रूप मे |

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Please Follow On Instagram instagram

अब जब घोड़ा सड़कों पे चलता हे | तो घोड़े के तलवे को किसी भी वस्तु से नुकसान न हो , इस समस्या से सुटकरा पाने के लिय वो लोग लोहे का एक नाल बनवाते हे | जो U टाइप का होता हे | वो लोग वो लोहे का नाल घोड़े के तलवे पे लगा देते हे | तो वो वही लोहे की नाल को सब लोग घोड़े की नाल कहते हे |

घोड़े की नाल बहुत शुभ होता हे | लेकिन सभी घोड़े की नाल नहीं  सिर्फ और सिर्फ काले घोड़े की नाल ही चाहिए होती हे | क्युकी हमे घोड़े की नाल शनि समस्या से मुक्ति पाने के लिय पहनना पड़ता हे | इसलिए वो घोड़ा काले रंग का होना चाहिए |

Ghode ki naal ki anguthi ke fayde
Ghode ki naal ki anguthi ke fayde

 

शनिवार के दिन घोड़े की नाल मिलने से क्या होता है?:

अब बात करते हे की शनिवार को घोड़े की नाल मिलने से क्या होता हे ?  काले घोड़े की नाल मिलना बहुत शुभ होता हे | अगर आपको शनिवार को घोड़े की नाल मिल जाए ,तो समझ लेना आपको लॉटरी निकाल गई हे | आपकी बिन मांगे मुराद पूरी होने वाली हे | शनिदेव आपकी सारी परेशानी खत्म करने वाले हे |

जेसे लॉटरी निकलती हे न हजारों ,लाखों मे सिर्फ एक की ही लॉटरी निकलती हे | वेसे ही मानो आप इस चीज को , शनिदेव आपसे प्रसन्द हे |

Ghode ki naal ki anguthi ke fayde
Ghode ki naal ki anguthi ke fayde

कौन सा घोड़े की नाल भाग्यशाली है? : Ghode ki naal ki anguthi ke fayde

( 1 ) घोड़े की नाल काले घोड़े की ही होनी चाहिए | अगर घोड़ा 70 % भ काला हे तो चलेगा | मतलब घोड़ा थोड़ा सफेद हे और ज्यादा काला हे तब तो फायदा करेगा ही | और पूरा काला हो तो अति उत्तम |
लेकिन अगर घोड़ा काला न भी हुआ तो आप घोड़े की नाल अपने काम मे उपयोग कर सकते हे | बस उसका फायदा कितना होगा ये किसी को नहीं पता |

शनिवार को वेसे तो लोहा घर पे लाता नहीं हे | मगर एक घोड़े की नाल , नाव की कील , लोहे का छल्ला ये तीन चीजे ही हे जो आप घर पे ल सकते हो |

( 2 ) आपको घोड़े की नाल घोड़े वाले से खरीदना नहीं हे | मतलब जेसे आज कल क्या चला हे न | रोड पे काले घोड़े को लेकर लोग घूमते हे और फिर किसी से बातचीत करते हुय बोलते हे की आपको घोड़े की नाल खरीदना हे क्या | इस घोड़े की नाल खरीद लो सिर्फ 1000 रुपये दे देना | अब उस घोड़े की नाल का कोई फायदा नहीं होने वाला हे आपको |

( 3 ) घोड़े की नाल आपको इसी घोड़े का खरीदना हे जिस घोड़े की नाल चलते चलते निकल जाए आपके सामने | वो घोड़े की नाल शुभ होता हे | और वही  घोड़े की नाल खरीदना चाहिए |

( 4 ) घोड़े की नाल घिसी होनी चाहिए | जब आपको घोड़े की नाल मिले तो वो घिसी होनी चाहिए | इसका मतलब की घोड़े ने उस नाल को कई दिनों तक पहना हुआ हे | और वही नाल आपके सारे दुख दर्द दूर करने वाली हे | बाकी बिना घिसी भी मिले तो रख लो | क्युकी भागते भूत की लंगोट ही सही |

घोड़े की नाल किसी भी दिन मिल जाए तो आप रख लो | लेकिन उसे शनिवार को ही उपयोग मे लाना हे आपको | बाकी शनिवार को मिल जाए तो बात ही अलग हे |

Ghode ki naal ki anguthi ke fayde
Ghode ki naal ki anguthi ke fayde

घोड़े की नाल का मुंह किधर होना चाहिए?( घोड़े की नाल को कैसे पहने?)

घोड़े की नाल मिल जाने पे आप उसे शुद्ध करले  | आपको घोड़े की नाल की पूजा करनी हे |सुबह नहा धोकर  ,सुबह 9 बजे से पहले पूजाघर मे आप एक कटोरे मे दूध , शहेद , फूल , गंगाजल लेकर सबको  एक कटोरे मे डालकर , शनिदेव के मंत्रों का जाप करके शुद्ध कर लेना हे | फिर उस घोड़े की नाल को धूप – दिया दिखाकर |  फिर उस घोड़े की नाल को शनिवार के दिन अपने चोखट  पे लगाना हे | आपको घोड़े की नाल  दरवाजे की चोखट पे ऊपर की तरफ बीचों बीच लगना हे U की तरह | मतलब घोड़े की नाल की दोनों छोड़ ऊपर की तरह हो |

घोड़े की नाल का मुंह किधर होना चाहिए ? ये भी सवाल होता हे | अब आपके घर मुख  द्वार जिधर हो उसी तरफ आपको लगाना हे |  अगर आपके घर मे कई द्वार हे तो | आपको घोड़े की नाल पूर्व और उत्तर दिशा की तरफ लगना होता हे |

Ghode ki naal ki anguthi ke fayde
Ghode ki naal ki anguthi ke fayde

घोड़े की नाल की अंगूठी को सिद्ध कैसे किया जाता है?

आपको Ghode Ki Naal Ki Anguthi शुक्रवार को बनवानी हे | और शुक्रवार की रात को आपको उस अंगूठी को एक मिश्रण मे डाल के छोड़ देना हे | मिश्रण के लिय आप एक कटोरा लीजिय , उस कटोरे मे गाय का शुद्ध दूध , शहेद , गुलाब के फूल की कुछ पट्टिया , और  गंगाजल डालना हे | फिर उस घोड़े की नाल की अंगूठी को उस मिश्रण मे डाल देना हे |

उसके बाद अगले दिन शनिवार को सुबह 9 बजे से पहले आपको ये अंगूठी धारण करनी हे | आपको सुबह उठ कर नहा धोकर , अपने पूजा स्थल मे जाए | उस मिश्रण मे से उस अंगूठी की गंगाजल से धोए ,फिर उस मिश्रण को किसी गमले मे डाल दे |

उसके बाद आपको शनिदेव का ध्यान करते हुय | आपको शनिदेव के मंत्र -शनि बीज मंत्र- ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः।और दूसरा मंत्र  ॐ शं शनैश्चराय नमः। आपको बीज मंत्र का 108 बार जाप करना हे | और सीधे हाथ की बीच वाली शनि की उंगली मे Ghode Ki Naal Ki Anguthi पहन लेना हे | उसके बाद आपको शनिदेव के मंदिर मे जाकर किसी बिखारी को कुछ दान – पुण्य करना हे | ध्यान रहे – दान बिखारी को देना हे , पन्डिट जी को नहीं |

घोड़े की नाल की अंगूठी किस तरह पहननी चाहिए?

जब आपको घोड़े की नाल मिल जाए तो आपको उसकी अंगूठी बनवानी हे | लोग यहा बहुत गलती कर देते हे | वो घोड़े की मिल जाने पे लोहार के पास जाते हे | और लोहार से कहते हे की इसका छल्ला बना दो | लोहार उस घोड़े की नाल को आग की अंगीठी मे जला कर उसका आकार लोहे की अंगूठी या छल्ला के रूप मे आपको दे देता हे | ऐसा नहीं करना हे ?

आप घोड़े की नाल को लोहार के पास लेकर जायों और उससे बोलो की लोहे की नाल का छल्ला बनवाना हे | और वो भी बिना आग की अंगीठी पे डाले हुये | अब आपसे वो मना करता हे तो आप किसी और लोहार के पास जायों | या आप सुनार के पास भी जा सकते हो | वो भी बना के दे देगा | लोहे की नाल को आग की अंगीठी मे डाल के अंगूठी बनाने से उसकी शक्ति खत्म हो जाती हे | वो Ghode Ki Naal Ki Anguthi किसी काम का नहीं रहती हे |

Ghode ki naal ki anguthi ke fayde
Ghode ki naal ki anguthi ke fayde

घोड़े की नाल की अंगूठी पहनने से क्या लाभ होता है?

अब बात अकरते हे की घोड़े की नाल की अंगूठी पहनने से क्या लाभ होता हे ? घोड़े की नाल की अंगूठी आपको कई मामलों मे फायदा ही पहुचाती हे –

घोड़े की नाल की अंगूठी या छल्ला जो भी आप जब पहनते हो तो आपको वो रत्नों की तरह नुकसान नहीं पहुचाते हे | मतलब अगर आपको किसी ने बोल दिया की आप नीलम रत्न पहन लो तो होगा क्या अगर आपको नीलम रत्न सूट कर गया तो बल्ले बल्ले मगर अगर सूट नहीं किया तो आपका जीवन नर्ख कर देगा |

रत्नों मे दोनों ताकत होती हे | आपको बर्बाद भी कर सकती हे और आपको आबाद भी कर सकती हे इसलिय रत्न संभल कर पहनना चाहिए फिर अगर बात हो नीलम रत्न की तब तो आपको डरना चाहिए | इसलिए जहा नीलम रत्न फायदे के आलावा नुकसान भी पहुचा सकता हे | वहा घोड़े की नाल की अंगूठी नुकसान नहीं पहुचाती उल्टा बिना नुकसान पहुचाए फायदा ही पहुचाती हे |

अगर आपका शनि खराब हे कुंडली मे तब आप नीलम रत्न नहीं पहन सकते | नीलम रत्न पहन कर और नुकसान होगा |  वही  घोड़े की नाल की अंगूठी या छल्ला ही फायदा पहुचाती हे | इसका कोई नुकसान नहीं होता हे | जहा नीलम रत्न की कीमत लाखों मे हे | वही घोड़े की नाल की कीमत हद से हद 1000 रुपये तक हो सकती हे बस |

( 1 ) घोड़े की नाल की अंगूठी पहनने से आपकी आर्थिक स्तिथि मे सुधार होता हे | आपको धन समस्या नहीं रहती जीवन मे | ( 2 ) नोकरी मे उन्नति का मार्ग खोलती हे ये अंगूठी आपकी नोकरी मे चलती आ  रही समस्या को समाप्त करती हे |
( 3 ) आपके उप्पर अगर शनिदेव का प्रकोप हे , अगर आपके ऊपर शानेसाती चल रही हो तो घोड़े की नाल की अंगूठी आपको बहुत फायदा पहुचाती हे |
( 4 ) घोड़े की नाल की अंगूठी आपके शनि को मजबूत करती हे | और शनि मजबूत होने से आपको बहुत फायदा पहुचता हे | आपका शरीर का स्वस्थ अच्छा रहता हे | शनि कमजोर होने पे सिर के बाल झरने चालू हो जाते हे तो आपको इस अंगूठी से विशेष लाभ मिलता हे |

घोड़े की नाल की अंगूठी या छल्ला पहनने के बहुत फायदे हे | मगर ऊपर बताए गए बातों का ध्यान अगर रखा जाए तब | 

1 thought on “Ghode ki naal ki anguthi ke fayde : क्या आपको भी पता हे घोड़े की नाल की अंगूठी के फायदे |”

Leave a comment