तांबे का छल्ला पहनने की विधि:तांबा पहने थोड़ा संभल कर नहीं तो

तांबे का छल्ला पहनने की विधि : बिना सोचे समझे मत पहनिए तांबे का छल्ला | गंभीर परिणाम झेलने पर सकते हे |

तांबे की अंगूठी के फायदे और नुकसान :

तांबे की अंगूठी पहनने के फायदे बहुत हे | तांबे का छल्ला पहनने की विधि  के भी तरीके इस ब्लॉग मे बताया जाएगा | चाहे आप तांबे का छल्ला पहनो या चाहे आप तांबे की अंगूठी पहनो | दोनों एक ही बात हे | लेकिन आपको छल्ला पहले पहनना हे |

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Please Follow On Instagram instagram

तांबे की अंगूठी पहनने से मतलब ये हे की जब आप किसी रत्न को पहनते हे | उसके साथ तांबा पहने तो अच्छी बात हे | क्युकी आप जब बाजार से तांबे का छल्ला लेने जयोगे तो वो तो ORIGNAL मिल जाएगा | जब आप तांबा  खरीदते हो तो  उसको आप हाथ से दबायोगे तब छल्ला दब जाएगा | मतलब तांबा ओरिजनल हे क्युकी तांबा मुलायम होता हे | लेकिन अंगूठी जब आप लोगों बाजार से उसमे मिश्रण होता हे उसमे लोहा मिश्र कर देते हे | जो सही नहीं हे |

इसलीय आप सिर्फ तांबे का छल्ला ले अगर बाजार से लेने जा रहे हो तो या फिर सुनार से आप तांबे की अंगूठी बनवा सकते हे | आपको ओरिजनल तांबा मिल जाएगा | आपको अंगूठी पहन्नी हे तो आप माणिक या मूंगा से साथ पहन सकते हे | तो आपको तांबा फायदा ही पहुचाएगा |

तांबे का छल्ला पहनने की विधि
तांबे का छल्ला पहनने की विधि

तांबे का छल्ला पहनने के फायदे:

तांबा बहुत ही शुद्ध और शुभ धातु हे | तांबे का काम ही हे किटाणु को खत्म करना | चाहे आप तांबे के बर्तन मे पानी पियो या खाओ खाना  तांबा आपके शरीर के लिय बहुत फायदेमंद हे | तो अगर तांबे को आप छल्ला या अंगूठी के रूप मे पहनते हो तो इससे दो फायदे हे |

तांबा पहनने से  एक तो आपके शरीर के अंदर की गंदगी को तांबा बाहर करता हे | अगर मे  तांबे का कड़ा पहनने के फायदे  बतायु तो बहुत फायदे होते  हे | चाहे आप तांबे का कड़ा पहन लो , या अंगूठी या छल्ला पहन लो | ये आपके ग्रह भी मजबूत करते हे | 

तांबे के छल्ला पहने से एक फायदा होता हे आपकी BP ठीक होती हे , तांबा  BP को  भी कंट्रोल करता हे | तांबे  का छल्ला पहनने से आपकी मानसिक स्तिथि मे भी सुधार होता हे |

तांबे का छल्ला पहनने से आपकी स्क्रीन भी सुंदर दिखनी लग जाती हे | आपकी स्क्रीन मे निखार दिखनी लग जाती हे | आपके शरीर की त्वचा मे सुंदरता दिखनी लग जाती हे |

तांबे का छल्ला पहनने से आपका मंगल मजबूत होता हे अगर आप मूंगा नहीं पहन सकते | तो आप छल्ला भी पहन सकते हे | इस छल्ले से आपका मंगल ठीक हो जाता हे |

तांबे का छल्ला पहनने से आपका सूर्य ग्रह मजबूत होता हे | सूर्य ग्रह  जो हमारे ग्रहों का राजा हे | और  सूर्य ग्रह हमारे ग्रह कस सबसे महत्वपूर्ण ग्रह हे | तांबे का छल्ला अगर धारण करते  हो | चाहे आप तांबे का कड़ा पहनो या छल्ला पहनो | दोनों ही सूर्य ग्रह को मजबूत करता हे | अगर आप माणिक रत्न को नहीं पहन सकते क्युकी माणिक रत्न महँगा रत्न हे जो खरीदना थोड़ा महँगा हे तो आप तांबे का छल्ला पहन सकते हो |

तांबे की अंगूठी के नुकसान : तांबे का छल्ला किसे नहीं पहनना चाहिए

हर वस्तु का अपना अलग फायदा और अलग नुकसान होता हे | तांबे का फायदा हे लेकिन कुछ नुकसान भी हे | तांबा कभी कभी किसी को सूट नहीं करता | अगर तांबा आपको सूट नहीं कर रहा हे तो आपको बुखार आ सकता हे | आपके मुख के आस – पास छाले भी उभर जाते हे | होंठों के आस पास छाले निकल सकते हे |

ये होता क्यू हे क्युकी तांबा पहनने से आपके शरीर की गर्मी खत्म होती हे | शुरू शुरू मे ये दिक्कत आती हे | अगर ये परेशानी लगातार हे |  नाक के आस – पास छाले निकल जाते हे | अगर ये परेशानी महीनों तक हे | तब आपको समझ जाना चाहिए की तांबा आपके लिय नहीं हे | आप उतार दे |

मुख के अंदर थूक बना रहता हे | आपको बार थूकने की आदत पर जताई हे | आपके मुह मे कुछ कुछ देर मे थूक बन जाता हे | तो तांबा आपके लिय नहीं हे | उतार दे  तांबा आप |

तांबे का छल्ला पहनने से अगर आपके पिताजी से आपका  मनमुटाव बढ़ जाता हे | अगर आपके पिता जी से बहस – बाजी सुरू हो जाती हे | तब भी तांबे का छल्ला आपके लिय नहीं  हे |  तांबे का छल्ला उतार दे |

अगर आपके साथ सरकारी काम मे अर्चन आनी लग जाए | मतलब सरकारी दंड मिलना चालू हो जाए तो आपको तांबे से बहुत दूर हो जाना चाहिए | आपको सिर्फ और सिर्फ सूर्य देव को जल देना होगा रोज के रोज |

तांबे का छल्ला पहनने की विधि
तांबे का छल्ला पहनने की विधि

तांबे की अंगूठी किस दिन पहनना चाहिए: 

तांबे की अंगूठी आपको वेसे तो मंगल के लिय ,आप मंगवार को पहन सकते हे | एक बार हनुमान चालीसा  पढ़ के धूप दिया दिखा कर पहन सकते हे | आप इसको अनामिका उंगली मे पहने |

सूर्य ग्रह को मजबूत करने के लिय अगर आप तांबे के छल्ले को पहनते हे तो आप इस छल्ले को रविवार के दिन पहन सकते हे | अनामिका उंगली मे आप इस छल्ले को पहन सकते हे |

 

तांबे की अंगूठी किस राशि वालों को पहनना चाहिए: 

तांबे का इस्तेमाल हर कोई कर सकता हे | मगर क्या कर सकते हे धातु का सीधा संबंध हमारे ग्रहों से होता हे | अगर आप कोई धातु पहनते हे तो वो उन ग्रहों को भी मजबूत कर देता हे जो आपकी कुंडली मे आपको नुकसान पहुचा रहा हे| जिससे आपकी दिककते जीवन मे और बढ़ जाती हे |

तो तांबे की अंगूठी किस राशि वालों को पहनना चाहिए उसके बारे मे बात कर लेते हे |  तांबे का छल्ला विशेष तोर पे मेष, सिंह और धनु राशि के लोगों के लिए  शुभ होता है | कुंडली मे आगर आपका लग्न ये हे | तो आप तांबा पहन सकते हो |

तांबे का छल्ला पहनने की विधि
तांबे का छल्ला पहनने की विधि

तांबे का छल्ला पहनने की विधि: 

तांबे का छल्ला पहनने की सिम्पल विधि हे | क्युकी ये धातु हे कोई रत्न तो हे नहीं की उसको शुद्ध करने के लिए एक दिन पहले लो रात भर रखो मिश्रण मे , फिर पहनो | ऐसा करने की जरूरत नहीं हे |

तांबे के छल्ले को आप रविवार के ही दिन लाए |  उसे शुद्ध करना चाओ तो एक कटोरे मे थोड़ा दूध , गंगाजल , शहद मिश्र करके उस तांबे को उस मिश्रण मे डाल के शुद्ध करलों , फिर गंगाजल से धोकर , धूप अगरबत्ती , दिया दिखाकर सूर्य देवता  के मंत्र – ॐ सं सूर्याय नंम : का तीन बार नाम लेकर अपने सीधे की अनामिका उंगली मे पहन लो | बस और कुछ नहीं करना | किसी मंत्र का 108 बार जाप नहीं करना | वेसे ही पहन लो | कोई समस्या नहीं  आएगी |

1 thought on “तांबे का छल्ला पहनने की विधि : बिना सोचे समझे मत पहनिए तांबे का छल्ला | गंभीर परिणाम झेलने पर सकते हे |”

Leave a comment