मोती रत्न के फायदे और नुकसान : सुंदर हे मगर हे खतरनाक

मोती रत्न के फायदे और नुकसान : दिमाग की हर कमजोरी की इलाज हे मोती

मोती रत्न की पहचान : एक बहुत ही सुंदर रत्न 

 क्या आपने कभी सोचा है कि वह छोटी सी मोती जो आप पहनते हैं,मोती रत्न के फायदे और नुकसान  इस ब्लॉग मे बात करेंगे | वास्तव में आपके जीवन को कैसे सुंदर बना सकती है? नहीं? तो आइए, हम आपको बताते हैं कि मोती पहनने के कुछ अद्भुत फायदे हैं जो न केवल आपकी शैली को बढ़ावा देते हैं, बल्कि आपके आत्म-संवाद में भी नई ऊर्जा भर सकते हैं।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Please Follow On Instagram instagram

1. आत्म-समर्पण की भावना:

मोती पहनना आपकी शैली को एक नई पहचान देता है जो आत्म-समर्पण की भावना को महसूस कराता है। यह आपको आत्म-विश्वास में वृद्धि करता है और आपको आत्म-समर्पण से भर देता है।

2. चेतना और शांति का संवाद:

मोती की उज्ज्वलता और उसकी महक आपको चेतना और शांति की अनुभूति कराती है। यह आपकी मानसिक स्थिति को संतुलित करने में मदद करता है और आपको शांति की भावना प्रदान करता है।

3. संवेदनशीलता और समझदारी:

मोती का पहनना आपको संवेदनशीलता और समझदारी की भावना दिलाता है। यह आपको दूसरों के भावनाओं को समझने में मदद करता है और आपको संवेदनशील बनाता है।

4. आत्मा की महत्वपूर्णता की स्मृति:

मोती पहनने से आप आत्मा की महत्वपूर्णता को याद रखते हैं। यह आपको यह बात याद दिलाता है कि हर व्यक्ति महत्वपूर्ण है और हर व्यक्ति में चमक और कोई खास बात होती है।

इसी तरह, मोती पहनने का यह शानदार अनुभव आपके जीवन में सुंदरता और आत्म-समर्पण का एक नया आयाम जोड़ सकता है। आज से ही मोती का आनंद लें और अपनी शैली में नई चमक लाएं।”

मोती रत्न के फायदे और नुकसान
मोती रत्न के फायदे और नुकसान

मोती रत्न के फायदे : मोती रत्न के फायदे और नुकसान 

( 1 ) जिन लोगों को अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखने में परेशानी होती है और वे जल्दी क्रोधित हो जाते हैं, उन्हें अक्सर मोती पहनने की सलाह दी जाती है। इस रत्न से क्रोध प्रबंधन में सहायता मिलती है। जो लोग गुस्से की समस्या से जूझते हैं उनके लिए मोती एक उत्तम रत्न हो सकता है। तदनुसार, मोती लोगों को अपना संयम, आशावाद और शांति बनाए रखने में मदद कर सकते हैं।

नीलम

( 2 ) मोती आपकी संज्ञानात्मक क्षमताओं में सुधार करते हैं। वे आपका ध्यान केंद्रित करते हैं और आपको मन की स्पष्टता प्रदान करते हैं। मोती आपको खुद को अधिक स्वतंत्र रूप से और अधिक आत्मविश्वास के साथ व्यक्त करने में भी मदद कर सकते हैं। यह आपको अपने पेशेवर संबंधों में अधिक आत्मविश्वास और दृढ़ता के साथ आगे बढ़ने में मदद करेगा। इस आकर्षण और आत्मविश्वास के साथ, आप अपने रास्ते में आने वाली संभावनाओं का लाभ उठा पाएंगे और सफल होंगे।

मोती पहनने की सलाह अक्सर उन लोगों को दी जाती है जो आसानी से क्रोधित हो जाते हैं और अपने गुस्से पर काबू पाने में संघर्ष करते हैं। यह रत्न क्रोध को नियंत्रित करने में मदद करता है। क्रोध की समस्या से परेशान व्यक्तियों के लिए मोती एक आदर्श रत्न के रूप में काम कर सकता है। इसका मतलब है कि मोती उन्हें आशावादी, शांत, शांतिपूर्ण और संयमित रहने में सहायता कर सकते हैं।

( 3 ) मोती आपकी मानसिक शक्तियों को बढ़ाता है। वे आपका ध्यान बढ़ाते हैं और मानसिक स्पष्टता प्रदान करते हैं। इसके अतिरिक्त, मोती आपके आत्मविश्वास और आत्म-अभिव्यक्ति को बढ़ाने में मदद करते हैं। यह आपको अपने कार्यस्थल पर खुद को अधिक आत्मविश्वास और दृढ़ता से प्रस्तुत करने में सहायता करेगा। आप अपने रास्ते में आने वाले अवसरों का लाभ उठाने में सक्षम होंगे और इस आकर्षण और आत्म-आश्वासन के साथ सफलता प्राप्त करेंगे।

( 4 ) मोती मातृ संबंधों को भी मजबूत बनाता है। ऐसा माना जाता है कि मोती पहनने से पहनने वाले की मां के स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है। इसके अलावा, यह पहनने वाले और उनकी मां के बीच आपसी समझ को बढ़ावा देने में मदद करता है।

( 5 ) मोती का मन पर शांत प्रभाव पड़ता है। वे आपके भीतर प्रेम और करुणा की भावना को बढ़ाते हैं। यह भी माना जाता है कि मोती पहनने से पहनने वाले के जीवन में लोकप्रियता और सौभाग्य आता है।

( 6 ) इस रत्न की ऊर्जा आपको अपनी मानसिक चुनौतियों से उबरने में मदद करेगी, जिससे आप जीवन की चुनौतियों के लिए खुद को बेहतर ढंग से तैयार कर सकेंगे।

( 7 ) कलाकारों के लिए मोती की भी सिफारिश की जाती है क्योंकि यह रत्न मानव रचनात्मकता का विस्तार करता है।

( 8 ) इन सबके अलावा, मोती का सबसे बड़ा लाभ पहनने वाले के लिए शारीरिक स्वास्थ्य बनाए रखना है। मोती पहनने से जल-जनित बीमारियों से लड़ने में मदद मिल सकती है। यह पहनने वाले की आंखों को स्वस्थ रखता है, संचार प्रणाली में सुधार करता है और साफ त्वचा पाने में मदद करता है।

( 10 ) यह हृदय को मजबूत बनाता है, रक्त प्रवाह को नियंत्रित करता है और शरीर से हानिकारक विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है। इसके अतिरिक्त, यह उच्च रक्तचाप और मूत्र संबंधी समस्याओं का भी इलाज करता है।

( 11 ) मोती शारीरिक तरल पदार्थों को संतुलित करने में मदद करता है। ये किडनी से जुड़ी समस्याओं के इलाज के लिए भी काम करते हैं।

( 12 ) इसके अलावा मोती अवसाद और तनाव को दूर रखकर शांतिपूर्ण नींद प्रदान करता है और नींद संबंधी विकारों को दूर करता है।

moti gems ke fayde
moti gems ke fayde

मोती रत्न धारण विधि : मोती रत्न के फायदे और नुकसान 

मोती को धारण करने से पहले आपको कुछ बातों की ख्याल रखना हे

मोती ऑरिगनेल होना चाहिए क्युकी मोती ज्यादा महेंगे होते नहीं हे | तो आप ऑरिगनेल मोती ले | मोती को संडे के दिन लाकर उसकी अंगूठी बना ले फिर उसी रात को उसे एक बर्तन मे गंगाजल , दही ,शहद , और कच्चा दूध लेकर रात भर उसे डुबो कर रहने दे | सुबह उठ कर 9 बजे से पहले ॐ चं चन्द्राय नमः का 108 बार ,मतलब एक माला जाप करना होगा जाप के बाद आपको littel finger मे धारण करे

Leave a comment